Wednesday, March 25, 2020

236 दिनों के बाद रिहा किए गए उमर ने कहा- बाहर आने पर 21 दिन की लॉकडाउन

By
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने तालाबंदी को लेकर एक ट्वीट किया। उमर को मंगलवार को आठ महीने की हिरासत के बाद रिहा कर दिया गया है। उमर अब्दुल्ला अपनी रिहाई के बाद से लगातार ट्वीट कर रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया कि इस गंभीर और डरावने माहौल में, थोड़ा मजाक करने में कोई दिक्कत नहीं है।
236 दिनों के बाद रिहा किए गए उमर ने कहा- बाहर आने पर 21 दिन की लॉकडाउन

पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा साझा की गई फोटो में वह अपने हाथों पर हाथ रखकर नीचे देख रहे हैं। ऊपर फोटो में लिखा है, 'जब आप 236 दिनों के लिए लॉकडाउन में रहते हैं और जैसे ही आप बाहर आते हैं, तो आप पाएंगे कि सरकार ने देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लागू किया है।

उमर अब्दुल्ला को इस ट्वीट पर 26 हजार से ज्यादा लाइक्स मिले हैं। वहीं, करीब चार हजार यूजर्स ने ट्वीट को रीट्वीट किया है।

उमर अब्दुल्ला ने रिहा होते ही क्या कहा था


अपनी रिहाई के बाद, उमर अब्दुल्ला ने कहा कि पहला काम कोविद -19 के साथ प्रतिस्पर्धा करना है और वह बाद में राजनीतिक स्थिति पर विस्तार से चर्चा करेंगे। उमर अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि इस केंद्र शासित प्रदेश के भीतर और बाहर हिरासत में लिए गए लोगों की रिहाई के साथ हाई स्पीड मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल की जानी चाहिए। पीएसए को हटाने का आदेश उनके खिलाफ गृह सचिव शालीन काबरा ने जारी किया था। आदेश में कहा गया कि सरकार ने तत्काल प्रभाव से उनकी नजरबंदी समाप्त कर दी है।

पिता फारुख को भी पिछले दिनों रिहा कर दिया गया था


उमर अब्दुल्ला के पिता पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को 221 दिनों की हिरासत में रखने के बाद 13 मार्च को रिहा कर दिया गया था। नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने पीएसए के तहत उमर की नजरबंदी को खत्म करने पर खुशी जताई।

0 comments:

Post a Comment